15 वें संसोधन के जीतने के चांस बहुत ही कम

इतना जान लो 15 वें संसोधन के जीतने के चांस बहुत ही कम हैं क्योंकि इसके फ़ेवर मे स्वयं अभी तक दीपक मिश्रा जी भी नहीं , तो होगा यही की क्यों न 50 - 50 % वेटेज दिया जाये , और जो 9बी है वो अपनी जगह सही
भी है क्योंकि अगर आप एकेडेमिक अंको के गुणाक को बेस ऑफ़ सिलेक्शन बनाते हैं तो वेटेज देना ही होगा , लोग कहते हैं कि ncte के नियम विवादास्पद हैं , लोग कहते हैं कि एक तरफ ncte इसको पात्रता परीक्षा कहती है , दूसरी तरफ 9बी के द्वारा वेटेज शुड बी गिवन की बात करती है ,
मेरा मानना यही की विवाद इस पर है क़ि कितना वेटेज दिया जाना चाहिए , यँहा इसका मतलब भी यही है कि अगर एकेडेमिक अंको के गुणाक सिस्टम को बेस ऑफ़ सिलेक्शन बनाया तो वेटेज देना ही होगा , पर कितना यही प्रश्न है जिसको सुप्रीम कोर्ट को हल करना होगा , और जो मेरे हिसाब से 50-50 तो अवश्य होगा । बाकी अभी तक की सुनबाई के हिसाब से 100 % टेट मेरिट को भी कोर्ट ने अपने नज़रिये से सही बताया है वो भी ncte से पूछ कर, फिर भी अभी मुद्दों पर सुनबाई होगी ही तब सब साफ़ हो जायेगा। ये मेरे अपने विचार हैं कोई इसको अपनी नियुक्ति से जोड़कर न देखे और वैसे भी फाइनल सुनबाई तक सभी अंतरिम आदेश पर हैं , किसी को कोई दिक्कत हो तो अपनी बात कोर्ट मे रखे ।
sponsored links:
ख़बरें अब तक - 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती - Today's Headlines

No comments :

Post a Comment

ख़बरें अब तक