Breaking : बिना टीईटी शिक्षक बनने के युग का हुआ अंत: सुप्रीम कोर्ट ने आज टीईटी से छूट की याचिका को किया खारिज

नॉन टीईटी युग का अंत : विनोद सोनकर की SLP सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी ।
माननीय जस्टिस श्री आदर्श कुमार गोयल जी ने कहा कि टीईटी के साथ कोई समझौता नही होगा ।
ये लोग बीटीसी उस बैच के अभ्यर्थी है।
जिनका रिजल्ट 2 महीने विलम्ब से आने के कारण
ये लोग टेट के दायरे में आ गए है।
चूँकि इन अभ्यर्थियों का कोई दोष नहीं है।
एक ही साथ बीटीसी किये हुए
कुछ लोंगो को नौकरी बिना टेट के मिल चुकी है।
और कुछ लोंगो का रिजल्ट लेट होने के वजह से
Rte एक्ट के दायरे में आ गए है।
और hc से लेकर sc तक लड़े किन्तु
कोई रिलीफ नहीं मिली।
💥💥💥💥💥💥💥
 कोर्ट नम्बर 13 में आज विशिष्ट बीटीसी की एक याचिका विनोद कुमार सोनकर के नाम से पड़ी थी जिसमे 15 मिनट से अधिक बहस हुई
जिसमे जस्टिस गोयल और गुप्ता जी ने टेट से छूट की बात को सिरे से खारिज कर दिया
याची कर्ताओं ने कहा कि वह बीटीसी 07-08 के है इसलिए उनको समायोजित किया जाये तो कोर्ट ने उन्हें फ्रेश भर्ती में आवेदन को बोला

sponsored links:
ख़बरें अब तक - 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती - Today's Headlines

No comments :

Post a Comment