Supreme court के वकीलों ने दी, शिक्षामित्रों को परेशान कर देने वाली खबर!

आगरा। Shiksha Mitra को ये खबर परेशान कर देगी। सुप्रीम कोर्ट ने जो अंतिम सुनवाई के बाद फैसला रिजर्व किया हुआ है, वो कभी भी आ सकता है, ऐसी उम्मीद है, लेकिन नियम ये भी है कि सुप्रीम कोर्ट 6 माह तक फैसला रिजर्व रख सकता है।
उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षामित्र संघ के जिलाध्यक्ष वीरेन्द्र छौंकर ने बताया कि अधिवक्ताओं से जब वार्ता हुई और उनसे पूछा गया, कि कब फैसला आ रहा है, तो ये जानकारी दी गई। यदि ऐसा हुआ, तो शिक्षामित्रों को अभी लंबा इंतजार करना होगा।

कब आएगा फाइनल डिसीजन
जिलाध्यक्ष वीरेन्द्र छौंकर ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट ने शिक्षामित्रों के भाग्य का फैसला कर दिया है, बस इंतजार है, फैसला आने का। वीरेन्द्र छौंकर इस मामले में खुद दिल्ली पहुंचे हुए हैं। उन्होंने बताया कि अधिवक्ताओं से बात हुई है। अधिवक्ताओं ने बताया कि फैसला कभी भी आ सकता है। सुप्रीम कोर्ट 6 माह तक फैसला रिजर्व रख सकता है।

शिक्षामित्र न हों परेशान
जिलाध्यक्ष वीरेन्द्र छौंकर ने बताया कि शिक्षामित्र परेशान न हों। जो भी फैसला आएगा, उनके पक्ष में ही आने की उम्मीद है। कोई भी ऐसा कदम न उठाएं, जिसका खामियाजा उनके परिवार को भुगतना हो। थोड़ा सा इंतजार करें। बता दें कि आगरा में 2900 शिक्षा मित्र हैं, जिनमें से मात्र 543 शिक्षा मित्रों का समायोजन नहीं हो सका है। ये सभी शिक्षा मित्र स्कूलों में पढ़ा रहे हैं।

sponsored links:
ख़बरें अब तक - 72825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती - Today's Headlines

No comments :

Post a Comment

ख़बरें अब तक